स्मार्ट प्रीपेड मीटर के खिलाफ कल मुजफ्फरपुर बंद का आह्वान

 

स्मार्ट प्रीपेड मीटर के खिलाफ कल मुजफ्फरपुर बंद का आह्वान स्मार्ट प्रीपेड मीटर के खिलाफ प्रीपेड स्मार्ट मीटर हटाओ संघर्ष समिति द्वारा कल मुजफ्फरपुर बंद का आह्वान किया गया है. समिति की प्रेसवार्ता में वक्ताओं ने कहा कि देश के कई राज्यों के आकलन में पता चला कि बिहार जैसे पिछड़े राज्य में सबसे ज्यादा प्रीपेड मीटर लगा है. बहुत से विकसित राज्यों में एक भी प्रीपेड मीटर नहीं लगा है, ऐसी क्या आवश्यकता थी जो इस मीटर को जबर्दस्ती आमजन को लगाया जा रहा है. इससे लोगों पर आर्थिक बोझ बढ़ता जा रहा है. बंदी का उद्देश्य आमजन की पीड़ा प्रशासन व शासन तक पहुंचाना है. प्रीपेड मीटर से एक तो बिल ज्यादा आ रहा है, तो दूसरी रिचार्ज कराने की प्रक्रिया से लोग परेशान हैं. हम सभी व्यापारी, रिक्शा चालक, ऑटो चालक, सब्जी वाले, छोटे दुकानदार, दैनिक काम करने वाले अपने प्रतिष्ठान को कुछ समय के लिए बंद कर सरकार से अनुरोध करेंगेकि तत्काल प्रभाव से इस मीटर के लगाने पर रोक लगायी जाये और पुरानी व्यवस्था को लागू की जाये. प्रेसवार्ता में कार्यकारी अध्यक्ष देवांशु किशोर, संयोजक मो सरफराज आलम, अजय पांडेय शामिल थे. 

स्मार्ट प्रीपेड मीटर हटाओ संघर्ष समिति ने कहा- गरीबों पर डाला जा रहा बोझ

स्मार्ट प्रीपेड मीटर हटाओ संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्षदेवांशु किशोर और संयोजक मोहम्मद सरफराज आलम ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर 12 जून को बंदी में सभी के शामिल होने की अपील की। कहा कि गरीब और मध्यम वर्ग के लोग इस. मीटर को लेकर बहुत ज्यादा परेशान हैं। इधर, राष्ट्रीय युवा संघ ने भी मुजफ्फरपुर बंद का समर्थन किया है। संघ के संस्थापक अध्यक्ष संजीव कुमार झा ने कहा कि सरकार स्मार्ट मीटर लगा आर्थिक दोहन कर रही है। वहीं, लीगल सेल के संयोजक विक्रम शर्मा ने इसे सरकार पर नागरिक अधिकार का उल्लघंन करने का आरोप लगाया। 

ऐतिहासिक होगा मुजफ्फरपुर बंदः देवांशु

स्मार्ट मीटर को लेकर जनता में काफी आक्रोश है। आम जनता रिचार्ज कराकर परेशान हो गई है। ये बातें प्रीपेड मीटर हटाओ संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष देवांशु किशोर ने इमलीचट्टी स्थित एक होटल में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कही। कहा कि इस बार आम जनता बंद में शामिल होगी।

स्मार्ट मीटर में पैसा रिचार्ज कराते-कराते हो रहे परेशान

मुजफ्फरपुर : स्मार्ट मीटर में आम जनता पैसा रिचार्ज करा कर परेशान हो रही है। गरीब और मध्यम वर्ग के लोग इस मीटर को लेकर अधिक पीड़ित हैं। शनिवार को एक होटल के सभागार में प्रीपेड स्मार्ट मीटर हटाओ संघर्ष समिति के अध्यक्ष देवांशु किशोर से प्रेस सम्मेलन कर इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 12 को को संघर्ष समिति द्वारा बंद को सफल करने के लिए एक सक्रिय भूमिका निभा रही है। भारत के कई राज्यों में स्मार्ट प्रीपेड मीटर को लेकर आकलन किया करने पर पाया कि बिहार जैसे पिछड़े राज्य में सबसे ज्यादा स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगा दिया गया। इलेक्ट्रिक बिल ज्यादा आने और बार-बार रिचार्ज के प्रक्रिया के कारण कई सारे लोग मानसिक रूप से बहुत ज्यादा प्रताड़ित हो रहे हैं। मौके पर अजय कुमार पांडेय, सरफराज आलम सहित अन्य मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं

If you have any doubts, Please let me know